अगर आप खरीदने वाले हैं एक Smart Phone तो इन बातों का जरूर ध्यान रखे



आज के समय में कोई ऐसा नहीं है जो Smart phone न use करता हो और आज ये  हमारी जरुरत बन चूका है | phone Call और message तो बेहद ही basic जरूरतें हैं, अब बात Music, Video और camera को लेकर होती है | समझदार Users Phone के Ram, Processor और Screen resolution जैसी तकनीकी चीजों की भी जानकारी चाहते हैं।

एक Users क्या चाहता है  Phone जो Smart work करे। आम Features तो ठीक हैं, अब Web browsing, GPS Navigation और Activity Tracking जैसे कई हाईटेक Features सिर्फ एक ही डिवाइस में होने की उम्मीद करता है |

फ़ोन खरीदना  यह पहले भी मुश्किल था और आज की तारीख में और भी। इसकी मुख्य वजहें हैं- Technology और ढेरों विकल्प।

अगर आप एक smart phone लेने का सोच रहे तो ये कुछ Tips हैं जो आप के काम की हैं 

आप चाहते क्या हो?

Smart phone खरीदने के पहले एक बात जरूर जान ले की आप चाहते क्या हो ,जैसी जरूरत वैसा phone.आप वही smart phone ले जो आपके हिसाब से हो | Camera, processor, ram, battery और brand को ध्यान में रखकर आप अपने नए फोन को चुनें, और सबसे अहम है बजट।



बजट

जितना ज्यादा पैसा लगाए  गए उतना अच्छा smart phone पाए  गे | पर  हमने इसको आसान बनाने की कोशिश की है | इस्तेमाल करने लायक सस्ते smart phone 5,000 से 10,000 रुपये के Range में आ जाते हैं। 10,000 से 15,000 रुपये के बीच कई अहम features से लैस एक modern smart phone आपका हो सकता है।
15,000 से 30,000 रुपये को Mid range segment माना जाता हैं | हालांकि,इस rangeमें products के features में काफी अंतर देखने को मिलता है जो अलग-अलग brand पर निर्भर करता है। 30,000 रुपये के ऊपर आपको High-end smartphone मिलने लगते हैं जिनमें Flagship-level device भी शामिल हैं। कुछ flagship handsets  और अनोखे high-end features वाले mobile  40,000 से 65,000 रुपये के बीच में भी मिलते हैं।

ब्रांड

Smart phone खरीदने से पहले brand चुनना एक अहम कदम है,क्योंकि इस पर कई बातें निर्भर करती हैं।  नामी brands  के साथ Software updates और Customer support service का भरोसा रहता है।  शायद यही वजह है कि ज्यादातर Users बड़े brand  के साथ जाना पसंद करते हैं। सबसे पहले तो इन Brand के Product  market में आसानी से उपलब्ध होते हैं। e-commerce website हो या फिर retail market,आप दोनों ही जगहों से अपनी सुविधानुसार खरीददारी कर सकते हैं। आज की तारीख में market में कई companies हैं। Samsung, Apple, Sony और Micromax जैसे brands के नाम तो आपने पहले भी सुने होंगे। लेकिन कई विदेशी companies के आ जाने के बाद customers  के लिए विकल्प और भी ज्यादा हो गए हैं। ऐसे में सबसे अहम बात यह हो जाती है कि आप जिस brand का phone ले रहे हैं, क्या आपके शहर में उसका Customer Care Center है। इसके अलावा उस brand के पुराने user का Feedback क्या है?

ऑपरेटिंग सिस्टम

Google का android, Apple का IOS, Microsoft का Windows Mobile और BlackBerry OS 10, आपके के लिए विकल्प कई हैं। हर operating system में कई खासियतें हैं तो कुछ कमियां भीं। भारत में android platform सुपरहिट है और इसका market share भी सबसे ज्यादा है। और open-source nature होने के कारण कई mobile brands इसी operating system पर फोन बना रहे हैं।




IOS और Android system के लिए सबसे ज्यादा Third-party apps उपलब्ध हैं। पर  IOS iphone की कीमत ज्यादा होने की वजह से  ये सबकी जेब में नहीं फिट  होता | पर वहीं android smart phone सबकी जेब में रहता है |  पर  अगर आपका मन इन दोनों  Operating system से भर गया हो तो आप  Microsoft का  Windows used कर सकते हैं | performance के मामले में इस product  की  market report भी  positive रही है। इन सबके अलावा phone खरीदने से पहले यह जरूर जांच लें कि आपको मिलने वाले operating system का version क्या है

आप में से कोई भी ये नहीं चाहेगा की आपका Device android या Windows mobile के पुराने वर्ज़न पर काम करे |

रैम और प्रोसेसर

किसी भी smart phone की speed और उसमें Multi-tasking का Level processor और Ram पर निर्भर करता है। इस बात का भी ध्यान रखें कि हर Operating System की Hardware जरूरतें अलग होती हैं। जैसे कि Windows Phone के Latest version में Android के Latest version से कम Processor speed और Ram की जरूरत पड़ती है।

Android world में Processor की performance का अनुमान आमतौर पर कोर से लगाया जाता है। Android phone के Processor में जितने ज्यादा कोर होंगे performance उतनी बेहतर होने की संभावना है। ज्यादा कोर होंगे तो उनकी मदद से Multitasking और भी आसान हो जाएगी, साथ में उपयुक्त Ram भी होना चाहिए। कोर की ज़रूरत को इस तरह से समझिए कि आप एक वक्त पर अपने mobile पर game खेल रहे हैं, गाना सुन रहे हैं और Background में downloading भी चल रहा है। सिंगल कोर Processor के लिए इतने सारे काम को एक साथ निपटाना बेहद ही मुश्किल है। ऐसे में काम आता है Multi कोर। इस तरह से देखा जाए तो डुअल कोर हमेशा सिंगल कोर से बेहतर होगा, ऐसा हम Android के लिए तो कह ही सकते हैं। हम सिर्फ कोर के आधार पर यह बिल्कुल तय नहीं कर सकते कि फोन की performance कैसी होगी। अब Apple को ही ले लीजिए, इसके Latest iPhone 6S और 6S Plus handset dual core processor के साथ आते हैं और performance के मामले में ये किसी High-end android deviceसे कम नहीं।




market में तरह-तरह के Processor उपलब्ध हैं। Snapdragon, Nvidia, Qualcomm, Intel और MediaTek, उनमें से कुछ हैं। हर Processor के अपने फायदें हैं तो कुछ नुकसान भी। MediaTek और Qualcomm के Processor ठीक काम करते हैं। वैसे, कुछ Device intel और Nvidia के Processor के साथ भी आ रहे हैं। आप इनमें से किसी को भी चुन सकते हैं।

किसी और Computing device की तरह smart phone को Program execute करने के लिए random access Memory (RAM)  की जरूरत होती है। फोन की performance बहुत हद तक ram पर निर्भर करती है। आज की तारीख में smart phone में जिस तरह के features आ रहे हैं, उसके लिए 1 GB का Ram बेहद जरूरी है। अगर आपके फोन में इससे ज्यादा Ram है तो और भी अच्छी बात। अगर आपको अपने फोन से Ultra smooth performance चाहिए तो 1.5 GB या उससे ज्यादा RAM वाला फोन ही खरीदें।

स्क्रीन

किसी भी Mobile Phone की Screen size को डायगोनली नापा जाता है। आज की तारीख में ज्यादातर Snart Phone  4 से 6.5 इंच की Screen size के होते हैं। 4-5 इंच Screen वाले Smart phone को बेहतर माना जाता है, इसे हाथों में रखना भी बेहद ही Confertable होता है। हालांकि, यह आप पर निर्भर करेगा कि आप कैसा Screen चाहते हैं। अगर आप छोटे Screen के आदी हैं तो 4-5 इंच का Display आपके लिए ठीक है। कुछ लोगों को ज्यादा बड़े Display पसंद आते हैं, उनके लिए भी मार्केट में कई विकल्प मौजूद हैं।


इसके अलावा Resolution भी एक अहम Factor होता है। Resolution को सीधे शब्दों में समझा जाए तो आपके Smart के Screen पर दिखने वाले images की Quality इससे से निर्धारित होती है। Screen की Size को लेकर कई User Confuse हो सकते हैं, पर Resolution के मामले में स्थिति स्पष्ट है। जितना ज्यादा Resolution, उतना बेहतर। अगर आप 4.5-5 इंच Dispaly वाला Device ले रहे हैं तो इसका Resolution कम से कम 720 Pixels होना ही चाहिए। 5 इंच से ज्यादा बड़े Display वाले Handset की ज़रूरत Full-hd resolution (1020 पिक्सल) की होती है, संभव है कि यह कम होने पर मोबाइल यूज़ करने का अनुभव शानदार ना रहे। इस बात का भी ध्यान रहे कि Resolution का सीधा असर battery life पर भी पड़ता है। ज्यादा Resolution वाले Screen में battery की खपत ज्यादा होती है।

बैटरी

किसी भी Smart phone user के लिए battery life सबसे अहम part है। इन दिनों फोन Removable और Non-removable batteries के साथ आते हैं। जिन Smart phone में Non-removable battery का इस्तेमाल होता है वो ज्यादा Sleek होते हैं। Non-removable batteries के साथ कुछ और भी फायदे हैं, Back cover ज्यादा Secure होते हैं और Phone में पानी के घुसने और damage होने की संभावना भी कम हो जाती है। पर ऐसा बिल्कुल नहीं है कि ये पूरी तरह से Waterproof हो जाते हैं। कुछ User removable battery को फायदेमंद मानते हैं, क्योंकि वे अतिरिक्त battery साथ रखना पसंद करते हैं। पहली battery खत्म हो जाने पर। उसे बदलकर दूसरी का इस्तेमाल कर लेते हैं। लेकिन अब जब maket में Power bank उपलब्ध हैं तो अलग से batteryलेकर चलने का कोई फायदा नहीं । battery का size भी अहम हो जाती है। जितनी ज्यादा बड़ी battery, smart phone के Running time बढ़ने की उम्मीद उतनी ज्यादा होती है। 

कैमरा

अगर smart phone खरीदने के पीछे अच्छा camera भी मकसद है तो Resolution, Rear Camera, Front Camera, LED Flash, Autofocus और video recording के बारे में पूरी जानकारी हासिल कर लें। 5 Megapixel का Rear camera तो आज की तारीख में बेसिक Feature माना जाता है, इससे नीचे के Cameras तो Photography के लिए बिल्कुल ही बेकार हैं।

अगर आपको Selfie लेना का शौक है या Video chatting भी करते हैं तोFront camera के बारे में भी Research कर लें। अच्छी Selfie के लिए आपको कम से कम 5 Megapixel के Front camera की जरूरत पड़ेगी, लेकिन 2 Megapixel से भी काम चल जाएगा। साफ कर दें कि सिर्फ Megapixel देखकर smart phone के Camera की performance को आंकने की गलती ना करें। कई बार ऐसा होता है कि 21 Megapixel का camera 13 Megapixel के Sensor की तुलना में कमज़ोर तस्वीरें ले। device खरीदने से पहले उसके Review को पढ़ें, खासकर Camera की performance को |




कम लाइट में Photography के लिए LED flash बेहद जरूरी हैं और phone में Dual LED Flash हो तो सोने पर सुहागा। अगर आप फटाफट Photo खींचना चाहते हैं तो burst mode अहम हो जाता है। यह फीचर आपको चंद सेकेंड में कई फोटो खींचने में मदद करता है।

आपने देखा होगा कि अक्सर हाथ हिलने के कारण Photo blur हो जाते हैं, ऐसे में काम आता है Image stabilization । हालांकि, इस Feature के होने का यह मतलब नहीं कि आप हाथ हिलाते रहेंगे और photo अच्छी आ जाएगी। यह Feature हल्के से Movement पर स्थिर तस्वीरें लेने में मदद करता है। नए device आपको video के साथ Sound byte भी  record करने की भी सुविधा देते हैं। ज्यादातर smart phone में Video recording feature होता है। अगर आप High quality recordings की मंशा रखते हैं तो कम से कम 720 Pixel (HD) recording capacities वाले Camera की जरूरत पड़ेगी।

ये थी कुछ Tips जिनको ख्याल में रख कर आप एक अच्छा smart phone ले सकते हैं .

Your Abftechworld team
keep support
Was this helpful?

Post a Comment

1 Comments